डीएम के आदेश के बाद भी कबरई-कुनेहटा मार्ग अपनी बदहाली पर बहा रहा आंसू(रिपोर्ट-मयंक गुप्ता)

Share
(मयंक गुप्ता)
कबरई/महोबा। प्रदेश की योगी सरकार जहां एक ओर गड्ढामुक्त सड़कों के निर्माण के रिकॉर्ड और दावे करते नहीं थकते वहीं महोबा ज़िले के कबरई कस्बे में कबरई से लगभग एक दर्जन गांवों को जोड़ने वाली सड़क गड्ढों में तब्दील होकर दुर्घटनाओं का सबब बनी हुई है। विगत दो माह पूर्व कस्बेवासियों ने रास्ते की ख़राबी और धूल से परेशान हो विवेक नगर और आसपास के मोहल्लेवासियों ने अपने-अपने घरों पर बिकाऊ है के बोर्ड लगा दिए थे। जिसका संज्ञान लेते हुए उप ज़िलाधिकारी ने जल्द ही रास्ते के निर्माण को पूरा कराने का आश्वासन दिया था।
ज़िला मुख्यालय में विकास कार्यों की समीक्षा बैठक के दौरान ज़िलाधिकारी अवधेश कुमार तिवारी ने संबंधित विभाग के ठेकेदारों को  निर्धारित समयावधि में रास्ते के निर्माण कार्य को पूरा करने के निर्देश दिए गए थे। साथ ही लापरवाही की स्थिति में कड़ी कार्यवाही की बात कही थी। ज़िलाधिकारी के निर्देश के पैंतालीस दिन की समयावधि बीत जाने के बावजूद रास्ते की स्थिति और कस्बेवासियों की समस्या जस की तस बनी हुई है।
कस्बे विवेक नगर निवासी पवन बताते हैं कि बार बार आश्वासन के बावजूद क़स्बे वासियों को ख़राब रास्ते कीचड़ और उड़ती धूल से निज़ात मिलती दिखाई नहीं दे रही है। साथ ही बीते सालों में दुर्घटनाओं की घटनाएं भी बेहद सोचनीय हैं। यही कारण था कि मुहल्ले के लोगों ने बोर्ड लगाकर अपने अपने घरों को बिकाऊ कर दिया था। लेकिन रास्ते में गड्ढों की समस्या के चलते घरों के खरीददार भी नहीं मिल रहे हैं। कस्बे के ही राजू कुशवाहा बताते हैं कि विगत कई सालों से ख़राब रास्ते के चलते कई लोग दुर्घटनाओं में अपनी जान गंवा चुके हैं और घायल तो रोज़ ही होते हैं। लेकिन जन प्रतिनिधि और ज़िला प्रशासन इस ओर संवेदनशीलता नहीं दिखा रहे हैं। इसी के चलते साल-2017 से कई बार कस्बेवासियों ने जाम लगाकर विरोध प्रदर्शन किया। जिस पर आला अधिकारियों ने आकर आश्वासन तो दिया लेकिन समाधान अभी तक नहीं मिल पाया है।
ग़ौरतलब है कि रास्ते निर्माण को लेकर प्रशासन व विभाग के ठेकेदारों की चाहे जो भी मज़बूरी हो लेकिन इस तरह समस्या को बार-बार नज़रंदाज़ किए जाने से क़स्बेवासियों में पनपता रोष कहीं फ़िर किसी जाम या प्रदर्शन की वज़ह बनकर समस्या उत्पन्न न कर दे।
Featured Main अन्य बड़ी ख़बरें उत्तर प्रदेश बड़ी ख़बरें बुंदेलखंड महोबा महोबा लोकल न्यूज़ महोबाTIMES