May 24, 2019
  • 6:08 pm 당신이 느끼고 싶어하는 것을 정
  • 6:08 pm 더 나은 세상을 만들기 위해 내가
  • 6:08 pm 따라서 1095 년에 로마 교황은 유럽
  • 6:07 pm ‘우리가 확실히 알고있는 것은 자
  • 6:07 pm 우리는 알 카에다의 주요 지도자
इंडोनेशिया के जकार्ता में खुला महोबा का रोटी बैंक,भूखो को देगा भरपेट भोजन 
यूपी स्टार न्यूज़ _महोबा! 23 अक्टूबर- देश मे पहला रोटी बैंक खोलकर बुन्देलखण्ड का महोबा चर्चा में आया था। हाजी मुट्टन और उनकी टीम द्वारा तीन वर्ष पूर्व रोटी बैंक की शुरुआत की गई थी और आज यह रोटी बैंक इंडोनेशिया के जकार्ता में शुरू हुआ है। सूखे बुन्देलखण्ड के महोबा में भूखों को भरपेट भोजन देने वाला रोटी बैंक अब इंडोनेशिया में भूखो का पेट भरेगा। महोबा के रहने वाले हाजी मुट्टन और इंडोनेशिया ,जकार्ता के रुमहा यतीम के प्रयासों से रोटी बैंक खोला गया है। जिसके उदघाटन में रोटी बैंक की एक टीम जकार्ता पहुंची और यतीम बच्चों के साथ मिलकर रोटी बैंक को शुरू किया।
 
बुन्देलखण्ड की मुफलिसी और गरीबी के कारण यहां के लोगों को दो वक्त पेट भर रोटी मयस्सर नही हो पा रही है। साल दर साल भुखमरी के बढ़ते आंकड़ों से चिंतित एक इंसान इन गरीबों के लिए तीन साल पहले मसीहा बनकर सामने आया था। बुन्देलखण्ड में एम्स जैसी मांग करने और लगातार समाज सेवा में अपनी पहचान बना चुके हाजी मुट्टन ने तीन साल पहले अपने ही इलाके में रोटी जमा करने वाला बैंक खोला था । शुरुआत में 30 से 35 घरों से दो-दो रोटी इकट्ठा की गई और देखते ही देखते अब तीन सौ घरों से रोटियां इकठ्ठा हो रही है। और रोटी बैंक के कार्यकर्ता इन रोटियों को जरूरत मन्दों, यतीमों, भूखों को पहुंचा रहे हैं।
60  युवा से अधिक इस टीम में आज भी काम कर रहे हैं। रोटी बैंक का मकसद कोई इंसान भूखा न सोए। धीरे धीरे यह रोटी बैंक भारत देश के कई राज्यों में खुलता चला गया और आज यह देश के बाहर अपना परचम फहरा रहा है। इंडोनेशिया के जकार्ता में आज महोबा के रोटी बैंक का शुभारंभ हुआ है। रोटी बैंक के संचालक हाजी मुट्टन बताते हैं कि बैंक का एक दल सलमान के नेतृत्व में जकार्ता पहुंचा है जिसके माध्यम से 1000 कम्बल, अनाथ बच्चों को कॉपी किताबें और कपड़े पहुंचाए गए हैं। जकार्ता में रोटी बैंक के शुभारम्भ को लेकर एक कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया। रूमहा यतीम संघठन और हाजी मुट्टन के सहयोग से महोबा का रोटी बैंक जकार्ता में शुरू हो गया है ! अब महोबा का रोटी बैंक जकार्ता में भी भूखों को भरपेट भोजन खिलायेगा । हमेशा भुखमरी,सूखा और आत्महत्या के लिए चर्चित रहने वाले महोबा ने अब रोटी बैंक के जरिये विश्व मे अपनी पहचान बना ली है। जकार्ता में रोटी बैंक का संचालन शुरू होने पर महोबा के लोगों में खासी खुशी देखी जा रही है। रोटी बैंक के संचालक हाजी मुट्टन का कहना है कि महोबा के रोटी बैंक की ख्वाहिश है कि देश मे ही नही बल्कि पूरे संसार में किसी की मौत भूख से न हो जिसके लिए रोटी बैंक प्रयासरत है। रोटी बैंक के संचालन में लोगों का भरपूर सहयोग मिल रहा है।
Share
upstarnews

RELATED ARTICLES