May 24, 2019
  • 6:08 pm 당신이 느끼고 싶어하는 것을 정
  • 6:08 pm 더 나은 세상을 만들기 위해 내가
  • 6:08 pm 따라서 1095 년에 로마 교황은 유럽
  • 6:07 pm ‘우리가 확실히 알고있는 것은 자
  • 6:07 pm 우리는 알 카에다의 주요 지도자
सामाजिक फिल्मों में काम करना मेरे लिए है गर्व की बात-आर्यन खान
 
{रिपोर्ट-आकांक्षा शुक्ला}
UP STAR NEWS (17 सितंबर 2018)महोबा! बुंदेली भाषा और परम्परा को पहचान दिलाने साथ की सामाजिक कुरीतियों को ख़त्म करने के प्रयास के लिए एएमबी फिल्म प्रोडक्शन हाउस द्वारा बन रही फिल्म शिक्षा और उसके कलाकार पहचान के मोहताज नहीं रहे ! बुंदेलखंड क्षेत्र ने बन रही इस फिल्म को लेकर लोग उत्साहित है बहुत जल्द ये फिल्म दर्शकों को देखने को मिलेगी ! इस फिल्म में काम कर रहे अभिनेता आर्यन खान ने भी दमदार भूमिका निभाई है ! अभिनेता आर्यन खान से खास बातचीत की यूपी स्टार संवाददाता संवाददाता आकांक्षा शुक्ला ने- अभिनेता आर्यन से बातचीत के कुछ अंश…..
1:- आप का फिल्मी सफर कैसा रहा  ?
■ हमारा फिल्मी सफर बहुत ही कठिनाइयों से भरा हुआ था ,मुझे बचपन से ही एक्टिंग करने का बहुत शौक था अपने स्कूल के दिनों में  मैं जब स्टेज परफॉर्म करता था तो लोग मेरी बहुत तारीफ करते थे! और धीरे-धीरे मेरे अंदर एक्टर बनने का ख्वाब तेजी से बढ़ने लगा, कॉलेज से अपनी पढ़ाई खत्म करने के बाद मैंने कई जॉब इंटरव्यू दिए मेरा सिलेक्शन भी हुआ, मगर मेरा मन तो मुंबई जाने का था और मैंने घरवालों की बातों को अनसुना करके मुंबई का रुख किया, मुंबई जाकर मैंने वहां जॉब किया और खाली समय में  मैंने अपनी एक्टिंग और निखारने के लिए एक्टिंग क्लास ज्वाइन की, उसके बाद मुंबई में मेरा संघर्ष शुरू हुआ। दोस्तों मुंबई जैसी माया नगरी में फिल्मों में काम करना कोई मामूली बात नहीं है , मैंने कई जगह ऑडिशन दिए,उसके बाद भी मुझे कहीं काम नहीं मिला ,बहुत हाँथ पैर मारे और पूरे  2 साल तक मैं मुंबई फिल्म इंडस्ट्री में एक मौका पाने के लिए भटकता रहा, मीलों पैदल चलता था , मेरा जॉब छूट गया तो मेरी हालत खराब हो चुकी थी, मैं पूरी तरह से अपनी हिम्मत हार चुका था, तभी मुझे पता चला कि हमारे गांव नदेहरा के करीब कस्बा भरुआ सुमेरपुर में फिल्म शिक्षा के लिए ऑडिशन हो रहे हैं, तो मैं मुंबई छोड़कर अपने गांव चला आया और भरुआ सुमेरपुर में फिल्म शिक्षा के लिए ऑडिशन देने गया, वहां डेढ़ से दो हजार लोग ऑडिशन देने के लिए आए थे,इतनी भीड़ देखकर मैं थोड़ा घबरा गया मैंने सोचा कि कहीं यहां से भी मेरा पत्ता न कट जाए. मगर मैंने हिम्मत करके ऑडिशन दिया और 2000 बच्चों में से फिल्म शिक्षा के लिए मेरा चयन हो गया । फिल्म डायरेक्टर और प्रोड्यूसर जनाब अंश कश्यप  सर ने मेरी एक्टिंग की बहुत तारीफ की, और उन्होंने मुझे अपनी फिल्म शिक्षा के लिए चयनित किया, तभी मुझे तसल्ली हुई और मेरे अंदर उम्मीद की एक किरण जागी, और मेरा एक्टर बनने का सपना मुझे लगता है अब बहुत ही जल्द पूरा हो जाएगा! और मुझे इस बात की खुशी है कि ए एम बी फिल्म प्रोडक्शन हाउस के प्रोड्यूसर डायरेक्टर जनाब अंश कश्यप सर ने मुझे अपनी टीम का हिस्सा बनाया ।
 
2- आपकी विचारधारा क्या है और आप की फिल्मों के क्या उद्देश्य हैं?
■ ए एम बी  फिल्म प्रोडक्शन हाउस के बैनर तले बनने वाली सभी फिल्मों को अश्लीलता से दूर रखा जाएगा, और प्रोडक्शन हमेशा संदेशात्मक फिल्मों का ही निर्माण करेगा, क्योंकि संदेशात्मक फिल्में समाज पर एक अच्छा प्रभाव डालती हैं ।
 
.3:- आप की फिल्म शिक्षा के बारे में हमें बताइए ।
■शिक्षा एक सामाजिक फिल्म है,इस फिल्म को बनाने के लिए ए एम बी फिल्म प्रोडक्शन हाउस के प्रोड्यूसर और डायरेक्टर अंश कश्यप जी और उनकी पूरी टीम ने रात दिन मेहनत करके इस फिल्म का निर्माण किया है । यह फिल्म सामाजिक कुरीतियों जैसे ऊंच-नीच, छुआछूत, जात-पात, शराब, नारी अत्याचार और टीबी रोग पर आधारित है। यह फिल्म समाज में फैली बुराइयों को दूर करेगी ।
.
4:- आपके जीवन में ए एम बी फिल्म प्रोडक्शन का क्या योगदान है?
■-ए एम बी फिल्म प्रोडक्शन हाउस से जुड़ना मेरे जीवन का सुनहरा अवसर था ,ए एम बी फिल्म  प्रोडक्शन से जुड़ने के बाद मेरे अंदर एक नया जज्बा पैदा हुआ और मेरे एक्टर बनने के सपने को एक नई राह मिली , इसके लिए मैं तहे दिल से निर्माता-निर्देशक अंश कश्यप और उनकी पूरी टीम का शुक्रगुजार हूँ।
.
5:- आपकी आने वाली फिल्मों और प्रोजेक्टों के बारे में बताइए!
■ ए एम बी फिल्म प्रोडक्शन हाउस के बैनर तले बनी फिल्म “शिक्षा” जो जल्दी आप लोगों के बीच प्रदर्शित होने वाली है ,और हमारे आने वाले प्रोजेक्टों में फिल्म लैपटॉप जो एक बड़ी फिल्म है और शॉर्ट फिल्म सिपाही जो  कि देशभक्ति फिल्म है इसके साथ और भी बहुत सारे प्रोजेक्ट हैं
 शिक्षा रिलीज के बाद बहुत ही जल्द लैपटॉप की शूटिंग शुरू होगी जिसके लिए हमारी टीम ऑडिशन के जरिए बुंदेलखंड के कलाकारों का चयन करेगी।
.
6:-फिल्म शिक्षा में आपकी क्या भूमिका है?
■- फिल्म शिक्षा में मैं नकारात्मक किरदार में हूं मेरी भूमिका एक गुंडे की है ,आप लोगों को मेरी भूमिका बेहद ही पसंद आएगी!
.7:- फिल्म डायरेक्टर अंश कश्यप के बारे में हमें कुछ बताएं 
■ फिल्म डायरेक्टर अंश कश्यप साहब बहुमुखी प्रतिभा के धनी हैं, वह बहुत ही खुशमिजाज इंसान हैं वह डायरेक्टर के साथ-साथ बेहतरीन एक्टर और राइटर भी हैं उनकी फिल्म छुद्र के लिए उन्हें बेस्ट अवार्ड भी मिल चुका है और उन्होंने बहुत ही कम वक्त में लोगों के बीच अपना एक अलग मुकाम हासिल किया है,फिल्म शिक्षा की कहानी भी उन्होंने बहुत ही अच्छे ढंग से लिखी है और फिल्म शिक्षा का निर्देशन करके फिल्म के एक एक सीन में जान डाल दी है और मैं एक बार फिर दिल से धन्यवाद देना चाहूंगा जनाब अंश कश्यप साहब का जिन्होंने मुझे अपनी टीम का हिस्सा बनाया!
 
8:- बुंदेलखंड के लोगों से आप क्या कहना  चाहते हैं?
■मैं अपने बुंदेलखंड के लोगों से सिर्फ एक बात कहना चाहूंगा कि आप लोग हमारी टीम का दिल से हौसला अफजाई करें हमें अपने आशीर्वाद और दुआओं से नवाजे 
9:-आपके जीवन में आप किन का योगदान मानते हैं?
इसका श्रेय मैं फिल्म डायरेक्टर अंश कश्यप सर को देना चाहता हूं जिनकी बदौलत आज मैं इस मुकाम पर हूं मेरे फादर जनाब तैयब खान साहब जिन्होंने हमेशा एक दोस्त की तरह मेरा सपोर्ट किया।
Share
upstarnews

RELATED ARTICLES