June 18, 2019
  • 7:02 pm 않을 것입니다.당신은 순진하지 않을 것입니다.또한 강사와
  • 5:29 pm 가진 사람들에 대한 고용주 수요 증가로 내년에
  • 1:34 pm 설정 (예 : 언어 및 사용 가능한
  • 12:03 pm 와 관련된 물건을 찾는 것이 더 어렵습니다
  • 6:08 pm 당신이 느끼고 싶어하는 것을 정

सामाजिक कुरीतियों पर प्रहार करती बुंदेली फ़िल्म “शिक्षा” की बुन्देलखण्ड में चल रही शूटिंग

रिपोर्ट-आकांक्षा शुक्ला

UP STAR NEWS_09जून18-महोबा। बुंदेली भाषा को पहचान दिलाने की जद्दोजहद में जुटे बुंदेली कलाकार और फ़िल्म निर्माता अंश कश्यप ने अपनी फिल्म छुद्र की सफलता के बाद अब शिक्षा नामक फ़िल्म की शूटिंग का कार्य शुरु कर दिया है। ये फ़िल्म अब फ़ॉलोर पर आ चुकी है। बढ़ती तपिश के बावजूद भी शूटिंग का कार्य रुकने का नाम नही लें रहा। बुन्देलखण्ड के तापमान की परवाह किये बगैर फ़िल्म की शूटिंग को कलाकार अंजाम दें रहे है। खास बात तो यह है कि इस फ़िल्म की भाषा न केवल बुंदेली है बल्कि सभी कलाकार भी बुंदेलखंड के ही जनपदों से लिये गए है। जिनमे दो कलाकार तैयब और शकील मुम्बई में रहकर भी कई फिल्मों में अभिनय कर चुके है। आपको ज्ञात होगा कि बुंदेली भाषा मे फ़िल्म छुद्र बनाकर आम जन को अपनी ओर आकर्षित किया था। फ़िल्म को लेकर अंश कश्यप में पत्रकारों से वार्ता करते हुए अपनी फ़िल्म को लेकर जानकारी दी।

बुन्देलखण्ड में न तो प्रतिभाओं की कमी है और न ही लगन की,लेकिन मौका और सहुलतों के न होने से ये दोनों चीज ही बेमानी हो जाती है। हम बात कर रहे है बुन्देलखण्ड में उन युवाओं की जो अभिनय को अपना पेशा बनाने की भरसक कोशिशों में लगे है। इसकी कोशिशों को पर देने का काम कर रही है महोबा जनपद में संचालित संस्था एएमबी फ़िल्म प्रोडक्शन हाउस। इस संस्था के प्रभारी और फ़िल्म निर्माता अंश कश्यप बुंदेली भाषा और यहां के कलाकारों को पहचान दिलाने की कोशिशों में लगे है। पिछले वर्ष छुआ-छूत जैसी कुरीति पर प्रहार करती हुई इनकी बुंदेली फ़िल्म छुद्र को बुन्देलखण्ड के दर्शकों सहित कई प्रदेशों के लोगों ने सराहा। छुद्र फ़िल्म में अभिनय करने वाले कलाकारों सहित फ़िल्म निर्माता और उनकी टीम को तत्कालीन डीएम अजय कुमार द्वारा सम्मानित भी किया गया था।

अपनी आगामी फिल्म शिक्षा को लेकर उत्साहित एएमबी फ़िल्म प्रोडक्शन हाउस फ़िल्म निर्माता अंश कश्यप ने आज मीडिया हाउस में पत्रकारों से वार्ता की। उन्होंने बताया कि वो बुंदेली भाषा और बुंदेलीबुड के सपने को लेकर चल रहे है। उनके जैसे सैकड़ों अभिनय प्रेमी जो स्टेज शो, नाटक आदि कर अपने हुनर को जिंदा किये हुए है उन्हें मौका देना है ताकि आने वाले समय मे बुन्देलखण्ड को अपनी फ़िल्म इंडस्ट्रीज बनने से कोई भी न रोक सके। पहल शुरू हो चुकी है बुन्देलीबुड नाम को मुम्बई में रजिस्टर्ड करा दिया गया है साथ ही बुन्देखण्ड के जनपदों में शूटिंग के लिहाज से स्थानों का चुनाव भी किया जा रहा है। कई ऐसे ऐतिहासिक स्थान है जहां न केवल कम बजट की फिल्में बल्कि बड़ी बजट वाली फिल्मों का भी निर्माण किया जा सकता है। अभी उनका प्रोडक्शन हाउस अपनी आगामी फ़िल्म शिक्षा की शूटिंग को पूरा करने में लगा है। शिक्षा फ़िल्म समाज को आईना दिखाने का भी काम करती है। क्योंकि शिक्षा न तो किसी के दायरे में है और न ही ये मोहताज है। शिक्षा गरीब और अमीर दोनों के निजी और सामाजिक जीवन को बदल सकती है।

हमारी फ़िल्म शिक्षा में भी कुछ ऐसा ही है। एक गरीब परिवार की लड़की की कहानी जो शिक्षा को लेकर संजीदा है और आखिर में उसी शिक्षा के बल पर वो अपना भविष्य बदलती है। संदेश देती इस फ़िल्म की शूटिंग महोबा और हमीरपुर जनपद में पिछले तीन माह से की जा रही है। तीन गानों सहित डेढ़ घंटे की इस फ़िल्म में वो सब कुछ है जो एक परिवार मिलकर देख सकता है। फ़िल्म के सभी कलाकार बुन्देलखण्ड के जनपदों से ही लिए गए हैं। महोबा,हमीरपुर बाँदा और चित्रकूट जनपद के कई कलाकार इस फ़िल्म में काम कर रहे है। जून की गर्मी में भी फ़िल्म की शूटिंग में कोई अवरोध पैदा नहीं हो रहा। अंश कश्यप ने बताया कि उनकी हर फिल्म सामाजिक,पारिवारिक माहौल को देखते हुए ही निर्मित की जा रही है। सामाजिक कुरीतियों पर भी फ़िल्म के माध्यम से प्रहार किया जा रहा है। इस फ़िल्म में मुख्य भूमिका अक्षय सिंह,वैष्णवी स्वर्णकार ,शकील खान,तैयब खान,पुनीत सिंह,रितुराज,हरिओम गुप्ता और अरविंद वर्मा है। इस फ़िल्म में काम कर रहे शकील खान और तैयब मुम्बई में रहकर कई फिल्मों जुड़वा भाई,पाक लव,बेधकड इश्क जैसी फिल्मों में अभिनय कर चुके है। ये दोनों ही कलाकार हमीरपुर जनपद के भरुआ क्षेत्र अंतर्गत गांव नंदेरा के रहने वाले है। शिक्षा फ़िल्म में भी इनका अहम किरदार है। अंश बताते है कि उनकी डेढ़ घंटे की फ़िल्म में दहेज प्रथा,छुआछूत, बेटा-बेटी एक समान,शराब और जुआ जैसी कुरीतियों पर प्रहार किया है। यदि सब कुछ ठीक रहा तो जून माह के अंत तक ये फ़िल्म दर्शकों के बीच होगी।

Share
upstarnews

RELATED ARTICLES